Ad

पहली सी मुहब्बत Pehli Si Muhabbat Song Lyrics in Hindi - Ali Zafar Lyrics

 

पहली सी मुहब्बत Pehli Si Muhabbat Song Lyrics in Hindi - Ali Zafar Lyrics
Singer Ali Zafar
Singer Ali Zafar
Song Writer Ali Zafar


पहली सी मुहब्बत Pehli Si Muhabbat Song Lyrics in Hindi,sung by Ali Zafar. The Song Lyrics is written by Ali Zafar and music composed By Ali Zafar.

Pehli Si Muhabbat Song Lyrics in Hindi


ह्म.. ह्म..

तेरे संग गुज़रे मेरे जो लम्हे
तुम से वो माँगूँ
मैं तलबगार हूँ
तुम से थोड़ी मोहलत मांगू

तू वोही में वोही है मगर बेबसी
ज़िंदगी को गवारा अब कैसे कारिएन



दिल के दरवाज़े पे
फिर से तेरी दस्तक मांगू
तुझ से ही फिर अपनी
पहली सी मुहब्बत मांगू

वो चाह जो हम में थी
फिर से वोही चाहत मांगू
तुझ से ही फिर अपनी
पहली सी मुहब्बत मांगू

तन्हाई में मार जाईएन क्या फिर आओगे
इस तरह से क्या हरपाल तुम तड़पावगे
घैर की तरह से यह तकालूफ कैसा
यह मरावट है कैसी यह तारूफ्फ कैसा



मैने अपने ही हाथों से गवाया है तुझे
आशना कोई और अब भाया है तुझे

दिल के दरवाज़े पे
फिर से तेरी दस्तक मांगू
तुझ से ही फिर अपनी
पहली सी मुहब्बत मांगू

वो चाह जो हम में थी
फिर से वोही चाहत मांगू
तुझ से ही फिर अपनी
पहली सी मुहब्बत मांगू

ह्म.. ह्म..

दिल के दरवाज़े पे
फिर से तेरी दस्तक मांगू
तुझ से ही फिर अपनी
पहली सी मुहब्बत मांगू

वो चाह जो हम में थी
फिर से वोही चाहत मांगू
तुझ से ही फिर अपनी
पहली सी मुहब्बत मांगू

Pehli Si Muhabbat Song Lyrics in English


Tere Sang Guzre Mere Jo Lamhe
Tum Se Wo Maangu
Main Talabgar Hun Tum Se
Thori Mohlat Mangu

Tu Wohi Main Wohi
Hai Magar Bebasi
Zindagi Ko Gawara Ab Kaise Karen



Dil Ke Darwaze Pe
Phir Se Teri Dastak Mangu
Tujh Se Hi Phir Apni
Pehli Si Muhabbat Maangu

Woh Chahat Jo Hum Mein Thi
Phir Se Wohi Chahat Maango
Tujh Se Hi Phir Apni
Pehli Si Mohabbat Mangu

Tanhai Mein Mar Jayen
Kya Phir Aao Gay
Is Tarha Se Kya Har Pal
Tum Tarpao Gay


Ghair Ki Tarha Se
Yeh Takaluf Kaisa
Ye Murawat Hai Kesi
Yeh Ta’ruf Kesa
Main Ne Apne Hi Hathon Se
Gawaya Hai Tujhe
Aashna Koi Or Ab Bhaya Hai Tujhe

Dil Ke Darwaze Pe
Phir Se Teri Dastak Maangu
Tujh Se Hi Phir Apni
Pehli Si Mohabbat Mangu



Wo Chahat Jo Hum Mein Thi
Phir Se Wohi Chahat Mango
Tujh Se Hi Phir Apni
Pehli Si Muhabbat Mangu

Hmm.. Hmm..
Yaar, Yaar, Yaar, Yaar!

Dil K Darwaze Pe
Phir Se Teri Dastak Maango
Tujh Se Hi Phir Apni
Pehli Si Mohabbat Maango

Wo Chahat Jo Hum Mein Thi
Phir Se Wohi Chahat Mangu
Tujh Se Hi Phir Apni
Pehli Si Muhabbat Mango




Post a Comment

0 Comments